राजस्थानी रामलीला मांय दसरथ, कैकयी संवाद अर राम बनवास री लीला देखर दरसकां री भीजी आँखड़ल्या

Spread the love

राजस्थानी रामलीला मांय दसरथ, कैकयी संवाद अर राम बनवास री लीला देखर दरसकां री भीजी आँखड़ल्या

राजा दशरथ रै दरबार में उठाईजी मायड़ भासा मानता री मांग

राजस्थानी साहित्य आपरै स्कूलां में खुलवाओ :- स्वामी

सूरतगढ़ 11 अक्टूबर

मायड़भासा राजस्थानी लोककला रंगमंच कान्नी सूं ऑनलाईन खेलीजण आळी राजस्थानी रामलीला री चौथी रात री लीला में दसरथ – कैकयी अर राम बनवास रा दरसाव दिखाईज्या । रंग कलाकारां रो सरजीवण अभीनै देख‘र दर्शका री आंख्यां भर आईं । दसरथ , कैकयी , कौशल्या , सुमित्रा , मंथरा, राम , लिछमण बणणिया रंग कलाकारां चरित में डूब‘र घणो जीवट अभिनै करयो जिणरी पांवणा अर ऑनलाईन देखणीयां खुले हिड़दै सूं सरावणा करी ।

चौथी रात री लीला रै संवादां री बानगी:-

दसरथ – क्यूं कोप भवन में बेठी हो, क्यूं भारी थानै घड़ी पल है।जिको थानै जीव सूं है प्यारो उणरौ राजतिलक काल है।।

जै किणी बस्तु री मनस्या हैं तो म्हारी जान मांग तूं।

पण उतार दे इण मौके उदासी रो ओ स्वांग तूं।।

कैकयी – सतवादी हा राजा हरिश्चंद्र , जका सत कोनी छोड्यो संकट में।

बां री सच्चाई रो दिवलो , जगमग करे है मरघट में।।

दसरथ – राणी – राणी झोळी मांड , तेरी मांग भी लै , दान भी लै , राज भी लै , बनवास भी लै अर मेरा पिराण भी लै।।

राम – ओ कोमल तन , कोमल मन , बठै घणा ई संकट है।

बना में जी जंत , राक्सा , साँप-सळैटां रो डर है।

सीता – जद दरसण सुख रा हुसी तो बन संकट किसो।

सिंघणी जद शेर रै साथै है तो उणने डर किस्यो।।

वशिष्ठ – राणी – राणी हूं सावधान क्यू छेड़ रेयी तू सांगो है।

तैं बनवास राम रो मांग्यो है , का सीता रो भी मांग्यो है।।

दशरथ दरबार में उठी भासा मानता री मांग :-

सिरै पांवणा शिक्षाविद गिरधारी लाल स्वामी भगवान रामजी री आरती कर‘र लीला सरू करवाई। दशरथ दरबार में लीला रो अेक अंक बणता थकां मायड़ भासा राजस्थानी नै मानता दिरावण री मांग सबळाई सूं उठाईजी। देस दुनिया रै मायड़ भासा रै हेताळवां सूं अरज करीजी कै राजस्थानी भासा नै बरत्यूं री भासा बणा’र पैलपोत खुद मानता देवो। इण रो पोखण अर रिछपाल करो। आपणै पोसाळां में राजस्थानी साहित्य सरू करवाओ । हर मिनख आप आप रै‌ ढंग सूं सैयोग करो।

चौथी रात री लीला रा कलाकार :-

राम – मनोज सुथार , लिछमण- प्रदीप बाजीगर , सीता – निखिल स्वामी , दशरथ – अमित कल्याणा , कौशल्या – नरेश शर्मा , कैकयी – सोनू सोनी , सुमित्रा – पवन भाटी , वशिष्ठ – इमरान , कैवट- देव भारती , मंथरा – राजकमल , निशादराज – सुजित , मंत्री – संदीप भांभू , नचार – खुर्शीद , सोनू सोनी, सोनू अरोड़ा , पवन भाटी, अरूण अर देव भारती आद बण्या अर विकी नंदा दरसकां नें घणां हंसाया।

निर्देशण मनोज स्वामी अर अमरीश जंवरिया करयो। लाईव प्रसारण रो काम संभाळण में अनिल, अशोक, हरीश स्वामी रो योगदान रैयो । हनुवंतसिंघ राजपुरोहित लंदन री अगुवाई में जै जै राजस्थान री टीम ऑनलाईन प्रसारण रोजिना 9 बज्यां सूं कर रैयी है। हनुवंतसिंह राजपुरोहित लंदन, सत्यनारायण राजस्थानी आसोप, अचल सोनी लंदन, किरण राजपुरोहित जोधपुर, फाऊलाल प्रजापत बैंगलोर, छैलू चारण छैल बीकानेर, हरीश हैरी बहलोलनगर री टीम इण प्रसारण नै आखी दुनिया तांई पूगायो।

%d bloggers like this: