पूर्व मंत्री देवीसिंह भाटी ने इस किताब में घर-घर नुस्खों से उपचार की महत्ता बताई Former minister Devisingh Bhati told in this book the importance of treatment from house to house.

Spread the love

भाटी प्रसिद्ध वैद्य के समान

अपने नाम से पहचान रखने वाले राजस्थान के पूर्व सिंचाई मंत्री देवी सिंह भाटी विगत कुछ वर्षों से दादी नानी के घरेलू नुस्खे से उपचार बताने वाले प्रसिद्ध वैद्य के समान जाने जाने लगे  हैं।

Former minister Devisingh Bhati told in this book the importance of treatment from house to house.
Former minister Devisingh bhati

तीसरा संस्करण

उनकी पुस्तक का तीसरा संस्करण बीकानेर में एमडीवी नगर में एक समारोह में लोकार्पित हुआ। इस पुस्तक में देवी सिंह भाटी ने स्पष्ट कर दिया है कि इननु स्खों को अपना कर हम अंग्रेजी दवाइयों के खर्च व साइड इफेट से बच सकेंगे। भाटी की पुस्तक का शीर्षक भी हर बीमारी का इलाज़ अपनी सार्थकता का प्रमाण ही है। भाटी ने बताया कि इस छोटी सी पुस्तक में अनेक नुस्खे है जिनसे कम खर्च पर घर में ही ईलाज किया जा सकता है।

ईलाज सुलभ जड़ी बुटियों से

उन्होंने बताया कि पुस्तक में खांसी, जुकाम, सिरदर्द  जैसी सामान्य बीमारियों के साथ कैंसर, लिवर, गुर्दा, चर्म रोग आदि बीमारियों का ईलाज सुलभ जड़ी बुटियों से किया जा सकता है। शून्य खर्च आधारित अर्थ व्यवस्था की परम्परा करने के लिए यह छोटा सा प्रयास होगा। इससे ऐलोपैथी चिकित्सकों की भीड़ व खर्चीली व्यवस्था को थोड़ा कम करने में सहायता मिलेगी। पोकेट बुक को हर समय पास रखकर ईलाज से स्वयं तथा दूसरों को भी लाभान्वित किया जा सकता है।

लोकार्पण कार्यक्रम 👇

भाटी की पुस्तक ‘हर

बीमारी का इलाज घर रसोई में का

लोकार्पण मुरलीधर व्यास

नगर स्थित संन्यास आश्रम में

मुख्य अतिथि अर्जुन एवार्डी फुटबालर

मगन सिंह राजवीं, कार्यक्रम अध्यक्ष

लालेश्वर महादेव मंदिर के अधिष्ठाता

स्वामी विमर्शानंद गिरि सहित अतिथियों ने किया।

पूर्व संसदीय सचिव कन्हैयालाल

झंवर, पूर्व प्रधान राधा देवी सियाग,

प्रधान लालचंद आसोपा, कर्नल हेम

सिंह, बाड़मेर के जोगेन्द्र सिंह चौहान शामिल

थे।

भाटी के कार्यों का परिचय पूर्व

सरपंच राम किशन आचार्य व पुस्तक

तथा अतिथियों का परिचय ज्योति

प्रकाश रंगा ने दिया।

समारोह में भाटी

ने पुस्तक के अपने व रोगियों पर

अजमाएं गए अनेक सफल चिकित्सा

नुस्खों को बताया ।

गोचर संरक्षण के लिए लाखों की घोषणा

इस अवसर पर भाटी की ओर से चलाएं गए गोचर

भूमि संरक्षण व दीवार निर्माण कार्य के

लिए अर्थ सहयोग की घोषणा की गई।

तनसिंह चौहान जन सेवा संस्थान के

जोगेन्द्रसिंह चौहान व राजेन्द्र सिंह

चसैहान ने सरह नथानिया में गोचर

विकास के लिए 5 लाख 51 हजार

रुपये देने की घोषणा की।

%d bloggers like this: