4 घंटे हिरासत में रहे सीएम गहलोत और अन्य कांग्रेस नेता, 8 घंटे से अधिक राहुल गांधी से पूछताछ : नेशनल हेराल्ड मामले में आज भी होगी पूछताछ

Spread the love

4 घंटे हिरासत में रहे सीएम गहलोत और अन्य कांग्रेस नेता, 8 घंटे से अधिक राहुल गांधी से पूछताछ : नेशनल हेराल्ड मामले में आज भी होगी पूछताछ

ईडी ने नेशनल हेराल्ड मामले में राहुल गाँधी से आज 9 घंटे पूछताछ की, आज फिर होगी पूछताछ



नई दिल्ली : कांग्रेस नेता राहुल गांधी से ईडी अधिकारियों की पूछताछ सोमवार रात खत्म हो गई है। ईडी ने राहुल गांधी से अलग अलग राउंड में करीब 9 घंटे पूछताछ की है। इसके अलावा उन्हें मंगलवार को भी जांच एजेंसी ने पूछताछ के लिए तलब किया है। राहुल गांधी से सोमवार सुबह करीब तीन घंटे पूछताछ हुई थी और उसके बाद वो अपनी मां और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलने सर गंगाराम अस्पताल गए थे। उसके बाद वो प्रवर्तन निदेशालय के कार्यालय दूसरे दौर की पूछताछ के लिए पहुंचे, जो करीब सात घंटे तक चली। राहुल गांधी से नेशनल हेराल्ड अखबार से जुड़े कथित मनी लांड्रिंग केस में पूछताछ की गई है। राहुल गांधी के अलावा सोनिया गांधी को भी ईडी ने समन भेजकर पूछताछ के लिए इसी महीने बुलाया है. ईडी ने यंग इंडियन प्राइवेट लिमिटेड के खिलाफ आयकर विभाग की जांच रिपोर्ट को ट्रायल कोर्ट द्वारा संज्ञान में लिए जाने के बाद इन नेताओं के खिलाफ मनी लांड्रिंग केस दर्ज किया था।
मामले में धोखाधड़ी और यंग इंडिया द्वारा एसोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड के अधिग्रहण में क्रिमिनल ब्रीच ऑफ ट्रस्ट जैसे आरोप भी लगाए गए हैं।

कांग्रेस का आरोप है कि ये पूछताछ बीजेपी की प्रतिशोध की राजनीति का हिस्सा है। राहुल गांधी से सोमवार सुबह सवाल-जवाब कांग्रेस के विरोध प्रदर्शन के बीच हुई। दिल्ली पुलिस ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं को प्रोटेस्ट मार्च की इजाजत नहीं दी थी और जगह-जगह उन्हें हिरासत में लिया गया।
एक वीडियो भी सामने आया, जिसमें कांग्रेस नेता केसी वेणुगोपाल को जबरन उठाकर बस में ले जाया गया। कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला का कहना है कि दिल्ली पुलिस द्वारा धक्का दिए जाने के कारण चिदंबरम की पसली टूट गई है। सुरजेवाला ने आरोप लगाया कि एक अन्य कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी को सड़क पर फेंक दिया गया और उनके सिर में चोट आई है।



कांग्रेस ने ईडी के देश भर में स्थित 25 कार्यालयों के समक्ष प्रदर्शन की योजना बनाई थी।


दिल्ली पुलिस का कहना है कि राहुल गांधी की ईडी के सामने पेशी के विरोध में मार्च के दौरान 459 कांग्रेस कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया गया था। इसमें 26 सांसद और 5 विधायक शामिल हैं। दिल्ली पुलिस का कहना है कि विरोध प्रदर्शन के दौरान हाथापाई और चोटें लगने के आरोपों की सतर्कतापूर्वक जांच की जाएगी।



छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा “आज हमारे राष्ट्रीय नेता राहुल गांधी को नेशनल हेराल्ड के मामले में ED ने तलब किया है, इसके खिलाफ हमारे हजारों कार्यकर्ताओं ने पूरे देश में विरोध प्रदर्शन किया है। लोकतंत्र का गला घोंटा जा रहा है। हम इसका विरोध करते हैं। ”

केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कांग्रेस पर जवाबी हमला करते हुए कहा “कांग्रेस और भ्रष्टाचार एक दूजे के लिए बने हैं। जिस तरह से भ्रष्टाचार के कुएं से कांग्रेसी कंकालों का कोताहल दिखाई दे रहा है इससे एक बात साफ है कि कितनी बुरी तरह से कांग्रेस पार्टी फैमिली फोटो फ्रेम में फिक्स हो चुकी है। उन्होंने कहा ये हंगामा इस बात को साफ करता है कि दाल में कुछ काला नहीं बल्कि पूरी दाल ही काली है। क़ानून को अपना काम करने दीजिए। हंगामे से कानून पर असर नहीं पड़ेगा। ”

दिल्ली पुलिस ने किया कांग्रेस नेताओं को रिहा, 4 घंटे की हिरासत के बाद मुख्यमंत्री गहलोत समेत सभी बड़े नेताओं को छोड़ा।



“नई दिल्ली : दिल्ली पुलिस ने कांग्रेस नेताओं को रिहा कर दिया हैं. 4 घंटे की हिरासत के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सहित सभी बड़े नेताओं को दिल्ली पुलिस ने छोड़ दिया है। 4 घंटे की हिरासत के बाद सभी कांग्रेसियों को दिल्ली पुलिस ने रिहा किया। तुगलक रोड थाने में सभी को हिरासत में रखा था. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि CBI, इनकम टैक्स, ED के हेड से मिलकर फील कराना चाहूंगा कि देशवासी क्या सोचते हैं। मैं चाहता हूं कि मैं इनसे खुद जाकर मिलूं। तीनों ने मुझे फटाफट टाइम भी दे दिया। बाद में उन्होंने कहा कि हम खुद ही जयपुर आकर मिल लेंगे। देश में माहौल ही ऐसा है, मैं मुख्यमंत्री होकर उनसे टाइम मांग रहा हूं। वह टाइम नहीं दे रहे, कह रहे जयपुर आकर मिल लेंगे। इसके मायने क्या होते हैं, पूरा देश चिंतित है। दबाव में आकर फिजूल में छापे डलवाए जा रहे है। बिना सर्वे के छापे डलवाए जा रहे। मेरा हक बनता है कि मैं अपनी भावनाएं उनके सामने रखूं। मैं तीनों से और मिलने के लिए ट्राई करूंगा। बिना कारण के राहुल-सोनिया गांधी को नोटिस दिए गए।

आपको बता दें कि इससे पहले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को दिल्ली में हिरासत में लिया गया। पुलिस बस में बैठे CM गहलोत ने बयान देते हुए कहा कि ईडी के दफ्तर जाते हुए दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया है। दिल्ली के एक दूसरे कोने में कहीं पुलिस स्टेशन में ले जाया जा रहा है, लेकिन हम में फिर भी उतना ही जोश और जज़्बा है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट कर लिखा, आज जिस तरह कांग्रेस पार्टी के शांतिपूर्ण मार्च को रोका जा रहा है। यह तानाशाही पूरा देश देख रहा। कांग्रेस मुख्यालय की घेराबंदी कर दी गई है। चारों तरफ पुलिस लगा दी गयी है। नेता-कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया जा रहा है। मुझे भी ईडी ऑफिस जाते समय साथियों के साथ हिरासत में लिया है। मुख्यमंत्री गहलोत ट्वीट कर लिखा, ईडी के दफ्तर जाते हुए दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया है। मल्लिकार्जुन खड़गे जी, जयराम रमेश जी, मुकुल वासनिक जी, दिग्विजय सिंह जी, दीपेंद्र हुड्डा जी, पवन खेड़ा जी, पीएल पूनिया जी, गौरव गोगोई जी, मीनाक्षी नटराजन जी समेत कांग्रेस नेताओं को सेन्ट्रल दिल्ली से दूर बस में बैठा कर ले जाया जा रहा है।

गौरतलब हैं कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी नेशनल हेराल्ड से जुड़े कथित धनशोधन मामले में सोमवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के समक्ष पेश हुए। इस मौके पर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल समेत कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेता और बड़ी संख्या में कार्यकर्ता पहुंचे और राहुल गांधी के प्रति अपना समर्थन जताया. राहुल गांधी ईडी कार्यालय तक जाने के लिए कांग्रेस मुख्यालय से थोड़ी दूर तक पैदल चले. पुलिस ने इस दौरान कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं को रोक दिया. सुबह करीब 11 बजे राहुल गांधी का काफिला ईडी कार्यालय पहुंचा.इससे पहले, पार्टी के प्रस्तावित मार्च के मद्देनजर पुलिस ने कांग्रेस के कई कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया और पार्टी मुख्यालय के आसपास धारा 144 लगा दी।



@FIN SUPER EXCLUSIVE FIRST INDIA NEWS RAJASTHAN

%d bloggers like this: