बीयर-बाजार में हलचल, दुकानों से लोकप्रिय ब्रांड्स हुए गायब…, मांगे जा रहे अधिक दाम !

सोशल मीडिया पर शेयर करें

*ऐसा कैसे? राजस्थान-दिल्ली-झारखंड में अचानक गायब हुई बीयर, कई राज्यों में 25% तक बढ़े दाम*

चिलचिलाती गर्मी से दिल्ली में हुई बीयर की भारी कमी, दुकानों से लोकप्रिय ब्रांड्स हुए गायब….
झारखंड में शराब के डियर को नहीं मिल रहा बीयर, कालाबाजारी से गिर रहा रेवेन्यू….
भीषण गर्मी में नहीं मिल रही चिल्ड बीयर, स्टॉक खत्म होने से परेशान राजस्थान के शराब विक्रेता….
ये तीन खबरें तो सिर्फ एक उदाहरण हैं. इस चिलचिलाती गर्मी में कोल्ड बीयर का टोटा भारत के कई राज्यों में हो चुका है. अब यहां सवाल ये उठ रहा है कि अचानक बीयर की कमी कैसे हो गई?

कॉन्फेडरेशन ऑफ इंडिया एल्कोहलिक बेवरेज कंपनी ने अपनी रिपोर्ट में बताया कि देश की राजधानी दिल्ली में हर साल 756 करोड़ बीयर कैन की बिक्री होती है. इनमें से 40% बीयर की बिक्री गर्मी के महीने अप्रैल, मई, जून और जुलाई के बीच होती है. झारखंड में भी बीयर की भारी कमी सामने आ रही है. रिपोर्ट्स में दावा किया गया है कि पिछले 15 दिनों से पूरे झारखंड में अधिकांश ठेके आउट ऑफ स्टॉक हो गए हैं. झारखंड में बीयर की प्रतिदिन करीब 4 लाख पेटी की जरूरत है, जबकि 35 से 40 हजार पेटी बीयर ही उप्लब्ध हो रही है.

राजस्थान स्टेट बेवरेजेज कॉर्पोरेशन लिमिटेड ने शनिवार को पूरे राज्य भर में शराब की भारी कमी का दावा किया है. राजस्थान में प्रति दुकानदार हर रोज 1,000 कैन बीयर की मांग है, जबकि 240 कैन बीयर ही हर दुकानदार को उप्लब्ध हो रही है. इस हिसाब से देखें तो राजस्थान 4.8 करोड़ कैन बीयर का हर महीने खपत है, जबकि इस समय 2.4 करोड़ कैन ही दुकानदारों तक सप्लाई हो रही है. बंगाल की सरकारी संस्था BEVCO ने भी कहा है कि इस साल मार्च के महीने में मांग अचानक बढ़ने की वजह से राज्य में बीयर की कमी हो गई है. अप्रैल महीने में राज्य में 2.5 करोड़ बीयर बोतल की मांग है, लेकिन आपूर्ति 40% तक कम होने की वजह से राज्य में बीयर की कमी हो गई है.

मार्च में गर्मी आते ही अचानक बीयर की खपत बढ़ने से कई राज्यों में शराब या बीयर की किल्लत हो गई है. इसकी 3 मुख्य वजह सामने आ रही हैं…
1. वेदर
2. सप्लाई चेन
3. न्यू एक्साइज पॉलिसी

दरअसल इस साल मार्च के महीने में पिछले 122 सालों में सबसे ज्यादा गर्मी पड़ी है. आमतौर पर अप्रैल या मई में हर साल तापमान 45 डिग्री के पार जाता था, लेकिन इस साल देश के कई जगहों पर मार्च में ही तापमान 48 डिग्री तक दर्ज किया गया है. गर्मी बढ़ने की वजह से मार्च में ही बीयर की मांग काफी ज्यादा बढ़ गई. ऐसे में अचानक से शराब और बीयर की मांग बढ़ने की वजह से दुकानदार बीयर की स्टॉक नहीं कर पाए और देश में इसकी कमी हो गई.

दिल्ली में शराब का डिस्टलरी प्लांट नहीं है या इसकी कमी है. वहीं, राजस्थान और दूसरे राज्यों में मार्च से पहले प्रोडक्शन बढ़ाकर स्टॉक नहीं किया गया, जिसकी वजह से गर्मी बढ़ते ही इन राज्यों में बीयर की किल्लत हो गई. CIABC के डायरेक्टर जनरल विनोद गिरी के अनुसार ज्यादातर डिस्टलरी प्लांट राजस्थान, हरियाणा, पंजाब, उत्तर प्रदेश और जम्मू में हैं. दिल्ली में सबसे ज्यादा शराब UP से आती है. इस साल मार्च महीने में गर्मी बढ़ते ही UP, पंजाब और हरियाणा जैसे राज्यों ने दिल्ली के लिए एक्सपोर्ट बंद कर दिया तो सप्लाई चेन प्रभावित होने से यहां शराब की कमी हो गई. इसी तरह दूसरे राज्यों में मार्च के पहले दुकानदार बीयर की स्टॉक नहीं कर पाए.

%d bloggers like this: