वाराणसी की डॉ श्वेता और इंदौर की श्रद्धा के सुरों का संगम होगा बीकानेर में

Spread the love

खबर या कोई लाइन सुनने के लिए सिलेक्ट करके टच करें 🎼🔊


सुमधुर संगीत एवं गजल प्रस्तुतियां

गंगाशहर। विरासत संवर्द्धन संस्थान, बीकानेर के तत्वावधान में टी.एम.ओडिटोरियम में “सुमधुर संगीत एवं गजल प्रस्तुतियां” कार्यक्रम का आयोजन किया जायेगा।
कार्यक्रम आयोजन प्रभारी के हेमन्त डागा ने बताया कि टी.एम.ओडिटोरियम में दिनांक 15.05.2022 को सांय ठीक 07ः45 बजे “संगीत व गजलों” पर आधारित इस आयोजन में डॉ. श्वेता जायसवाल, वाराणसी व श्रद्धा जगताप, इंदौर से अपनी प्रस्तुतियां देगी।


हेमन्त डागा ने दोनों कलाकारों का परिचय देते हुए बताया कि डॉ.श्वेता जायसवाल वाराणसी की है और नई पीढ़ी की अत्यन्त प्रतिभाशाली गायिका हैं। वर्तमान में बनारस हिन्दू विश्व विद्यालय में आचार्य के पद पर कार्यरत डॉ. श्वेता ने कुम्भ महोत्सव, प्रयाागराज, आर्ट फिएस्य जयपुर, विंटर कर्निवाल मसूरी सहित विभिन्न संगीत समारोह में प्रस्तुतियां दी है। इन्हे संगीतज्ञों द्वारा सराहा गया है। सुरश्री सम्मान, संगीत साधक सम्मान, अटल विहारी वाजपेयी सम्मान, संगीत रत्न सम्मान, वॉइस ऑफ पटना आदि अनेक सम्मानो से इन्हें सम्मानित किया गया है।


हेमन्त डागा ने बताया कि दिल की गहराई तक उतरने वाली गजलें गाने के लिये ख्याति प्राप्त श्रद्धा जगताप विभिन्न टीवी कार्यक्रमों (गजल सारा, ईटीवी, मेरी आवाज सुनों डीडी1 आदि) में विजेता रही है। इन्हें सुरश्री जयपुर, महाराष्ट्र संगीत रत्न अवार्ड, संगम कला गु्रप पुरस्कार आदि सम्मान प्राप्त है। इन्होंने प्रतिष्ठित संगीतज्ञों पीनाज मसानी, रविन्द्र जैन, रूप कुमार राठौड़, मोहम्मद अजीज, सुदेश भोसले, विनोद राठौड़ के साथ भी गाया है।
उपाध्यक्ष कामेश्वर प्रसाद सहल ने बताया कि विरासत संवर्द्धन संस्थान के संस्थापक व अध्यक्ष टोडरमल लालाणी संगीत प्रेमी हैं इस संगीत प्रेम के चलते इन्होंने टी.एम.ऑडिटोरियम का निर्माण करवाया और इस ऑडिटोरियम में वे समय समय पर संगीत प्रेमियों के लिए संगीत के अनेको कार्यक्रम आयोजित करते रहते है। इससे स्थानीय कलाकारों, कला व संगीत प्रेमियों को राष्ट्रीय स्तरीय कलाकारों से रूबरू होने का अवसर मिलता रहता है।

Leave a Reply